Coriander Benefits in Hindi – धनिया के औषधीय गुण

Coriander Benefits in Hindi – धनिया के औषधीय गुण

धनिया (Coriander) का पौधा बड़ा आकर्षक होता है । इसका हरा-भरा रूप सबके मन को मोह लेता है। यह करीब 20 से 25 सेंटीमीटर ऊंचा होता है। इसके पत्तों का आकार अंडाकार होता है तथा पत्ते कटे – कटे हुए होते हैं। इसके फूल, पत्ते सभी कुछ लाभदायक होते हैं । इसका फूल सफेद रंग का छाते की तरह होता है।

धनिया सूखा और हरा दोनों रूप में प्रयोग किया जाता है। हरा धनिया चटनी, सलाद, सब्जी इत्यादि के रूप में प्रयोग किया जाता है। सूखा धनिया का प्रयोग मुख्य रूप से मसाले के तौर पर किया जाता है। इसका पूरा पौधा खुशबूदार सुगंधित होता है।

धनिया औषधीय गुणों से भरपूर होता है। इसका स्थान आयुर्वेद में बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। इसमें अनेक पोषक तत्व होते हैं जो हमारे स्वस्थ के लिए लाभदायक होते हैं ।

धनिया के पोषक तत्व

Carbohydrates, Protein, Fibre , Vitamin A, vitamin C, Thiamine, Calcium, Iron, Potassium etc

Coriander Benefits in Hindi

धनिया से लाभ – Coriander Benefits 

1) धनिया भूख जगाता है – यह एक स्वादिष्ट चटनी है । चटनी बनाने का नियम मैं आपको बता रही हूँ । धनिया के पत्ते, पुदीना के पत्ते ,अंगूर के कुछ दाने, अनार के कुछ दाने, भुना हुआ जीरा, सेंधा नमक, थोड़ी सी काली मिर्च इन सबको मिलाकर पीस लें ।पीसने के बाद इसमें अपने स्वाद के अनुसार नींबू का रस डाल दे। इसे भोजन के साथ खाएं । यह स्वादिष्ट चटनी आपके भूख और आपकी पाचन शक्ति दोनों को ही बढ़ाने में मदद करेगी।

2) धनिया कब्ज को दूर करता है – 5 ग्राम धनिया का बीज, 5 ग्राम सनाय का पत्ता और 5 ग्राम मिश्री इन तीनों को कूट पीसकर भोजन के बाद पानी के साथ ले। इससे कब्ज का शिकायत समाप्त हो जाता है।

3) धनिया चक्कर आने पर लाभदायक होता है -आंवला का रस 10 ग्राम, हरे धनिया का रस 10 ग्राम। जल के साथ मिलाकर पीने से चक्कर आना बंद हो जाता है।

4) धनिया दांत दर्द में सहायक होता है – दो चम्मच सरसों के तेल में 5 से 7 दा ना धनिया डालकर 5 मिनट तक उसे अच्छी तरह boil करें । ठंडा करके उसमें एक चुटकी भर सेंधा नमक डालकर दांत तथा मसूड़ों पर हल्के हाथों से मसाज करें। इससे बहुत जल्दी आराम मिलेगा। अगर मसूड़ों से रक्त आता हो तो भी खत्म हो जाएगा।

5) धनिया उल्टी में लाभदायक होता है – हरा धनिया के पत्ते से रस निकालकर कांच के बर्तन में रख लें। इसे आधे घंटे या अपनी आवश्यकता अनुसार 15 मिनट के अंतराल पर पिलाएं ।उल्टी बंद हो जाएगी।

6) आंखों के लिए धनिया लाभ दायक होता है -धनिया का बीज कूट कर पानी में उबाल लें । इसे छानकर ठंडा करें। दो बूंद आंख में डालने पर आंख का जलन ,दर्द तथा आँख की लाली खत्म हो जाता है।

7) महिलाओं के लिए periods में धनिया चमत्कारिक लाभ देता है – अगर bleeding साधारण से ज्यादा हो रहा हो तो आधा लीटर पानी में 6 ग्राम धनिया का बीज पानी में boil करें । इसमें मिश्री डालकर धीरे-धीरे पिए ।अति शीघ्र फायदा होगा|

8) धनिया मुंहासों में लाभकारी होता है – हरा धनिया पीसकर पेस्ट बना लें। उसमें एक या दो चुटकी हल्दी मिलाकर चेहरे पर लगाएं। इसका इस्तेमाल alternate days करें । यह बहुत ही कारगार नुस्खा है। इसका प्रयोग मैंने खुद भी किया है। इससे मुहांसे तो जाते ही हैं साथ ही चेहरे में भी अद्भुत निखार आता है।

9) पेशाब के जलन में धनिया लाभकारी सिद्ध होता है– धनिया के पत्तों का पानी पीने से पेशाब के जलन में फायदा होता है।

10) धनिया शरीर के दाह को शीतल करता है – धनिया का बीज पानी में 3 से 4 घंटा भिगो दें, फिर इसे पीसकर उसका पानी तैयार करें। मिश्री मिलाकर पीने से शरीर का दाह तथा पैरों का जलन खत्म हो जाता है।

11 a) धनिया से नकसीर में लाभ होता है– हरा धनिया के पत्तों का रस निकालकर उसमें चुटकी भर कपूर का पाउडर मिलाकर नासिक छेद में एक या दो बूंद डालें। इससे रक्त आना तुरंत बंद हो जाता है।

b) हरे धनिया के पत्ते तथा कपूर डालकर पीस लें। इस पेस्ट को ललाट पर लगाएं। इससे भी रक्त आना बंद हो जाता है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here