Benefits of Radish in Hindi – मूली के फायदे

मूली (Radish) पूरे भारतवर्ष में पाया जाता है। यह सर्दी और बरसात के मौसम में उपजता है। मूली भूमि के नीचे होता है। यह भूमिगत पौधा बड़ा ही लाभदायक और गुणकारी होता है। यह देखने में जितना आकर्षक होता है उतना ही खाने में मधुर और स्वादिष्ट भी होता है।

मूली मुख्य रूप से सलाद के रूप में हम प्रयोग करते हैं पर इसकी चटनी और instant अचार भी बनता है। इसके पत्ते सलाद और दाल में डालकर बनाते हैं। इसके पत्तों का साग भी स्वादिष्ट बनता है। कहते हैं मूली का पत्ता मूली से ज्यादा लाभदायक होता है।

चिकित्सक विशेषज्ञों के अनुसार मूली में पाचन शक्ति का गुण अधिक होता है। यह पेट के कृमि तथा पथरी को दूर करने में सहायक होता है। मूली कच्चा ही खाना चाहिए। मूली की फलियों की सब्जी बनाकर खाने से गैस का शमन होता है। मूली का बीज औषधि के रूप में प्रयोग होता है। गाजर और मूली का रस बराबर मात्रा में पीने से हमारे शरीर को पोषण मिलता है । मूली में अनेक पोषक तत्व हैं ।

मूली के पोषक तत्व

मूली में Calcium, Vitamin A, Vitamin C, Dietary fibre, Carbohydrates, Protein, Sodium
Iodine, Iron, Magnesium और low cholesterol पाया जाता है।

Benefits of Radish in Hindi

Benefits of Radish – मूली के फायदे

1 .मूली से Acidity नष्ट हो जाता है

ताजा मूली के पत्तों का रस या ताजा मूली गुड़ के साथ खाली पेट खाने से एसिडिटी में लाभ मिलता है।

2 . मूली Piles के लिए लाभकारी होता है

मूली काटकर उसमें सेंधा नमक लगाएं । इसे खुले ओस में किन्तु स्वच्छ स्थान पर रखें । अगले दिन उसका रस निकल कर पिएँ । यह पाइल्स के लिए बहुत लाभकारी होता है ।

3 .मूली कृमि दूर करता है

मूली के रस में सेंधा नमक और काली मिर्च का पाउडर मिलाकर सुबह शाम पीने से पेट के कृमि नष्ट हो जाते हैं ।

4 .मूली पाचन क्रिया ठीक करता है

खाना कहते समय सलाद के रूप में मूली काटकर उसमें सेंधा नमक और निम्बू का रस डाल कर खाएं । बहुत राहत देता है ।

5 . मूली पथरी निकालने में सहायक होता है

a . मूली का रस प्रतिदिन पीने से पथरी टुकड़े में टूट -टूट कर urine के रास्ते बाहर निकल जाता है।

b . मूली के बीजों को जल में उबालकर जब जल आधा बचे तब उसे छानकर पीने से भी पथरी निकलने में अत्यधिक सहायक होता है ।

6 . मूली Jaundice में फायदा करता है

मूली और गन्ने का रस बराबर मिलाकर प्रतिदिन सुबह शाम पीने से लाभकारी होता है। इसे लगातार कुछ दिनों तक अवश्य करें। मूली के रस सौ ग्राम में थोड़ा शक्कर मिलाकर पीने से भी जॉन्डिस में लाभ मिलता है।

7 . मूली Blood Pressure को नियंत्रित करने में सहायक होता है

मूली के कोमल पत्ते चबाकर खाने से बहुत ज्यादा फायदा होता है। इसके अलावा मूली का सलाद का प्रयोग प्रतिदिन करने से भी फायदा होता है।

8 . मूली Indigestion में लाभकारी होता है

a. मूली के रस में पीपल का चूर्ण और सेंधा नमक मिलाकर पीने से अपच की समस्या दूर हो जाती है।

b. खाना खाने के बाद मूली के रस में थोड़ा सा नींबू का रस और सेंधा नमक तथा थोड़ा सा काला नमक मिलाकर पीने से अपच की समस्या खत्म हो जाती है ।

9 . मूली से खट्टा डकार में निजात मिलता है

मूली का 150 ग्राम रस में मिश्री मिलाकर पीने से खट्टा डकार खत्म हो जाता है ।यह अत्यंत लाभदायक होता है ।

10 . मूली हिचकी में फायदा करता है

मूली के कोमल पत्ते चबाकर उसके रस को चूसने से हिचकी शीघ्र ही बंद हो जाता है।

More Healthy Foods

1 – Papaya Health Benefits in Hindiपपीता के फायदे
2 – Health Benefits of Garlic in Hindi – Lahsun ke Faydeलहसुन के फायदे
3 – Health Benefits of Tomatoes in Hindiटमाटर के फायदे
4 – Health Benefits of Lemon in Hindiनींबू के फायदे
5 – Pomegranate Health Benefits in Hindiअनार के फायदे
6 – 18 Amla Benefits in Hindiआंवला के फायदे
7 – Tulsi Benefits in Hindi – Tulsi ke Faydeतुलसी के फायदे
8 – Neem Tree Benefits in Hindi – Neem ke Faydeनीम के फायदे
9 – Ginger Benefits in Hindiअदरक खाने के फायदे और औषधीय गुण
10 – Benefits of Black Pepper in Hindi काली मिर्च खाने के फायदे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here